How to activate any type of tax in tally?

 How to activate any type of tax in tally?

How to activate any type of tax in tally

आप सभी का एक स्वागत है LearnVera Tutorial में आज के इस टुटोरिअल में हम आपको बतायेगे की कैसे आप टैली सॉफ्टवेयर के अंदर टैक्स फीचर को ऑन कर सकते हो। 

Gst Tax की एंट्री टैली में कैसे की जाती है आज इसी विषय पर चर्चा करेंगे 

छात्र काफी परेशान रहते है टैली में  GST एंट्री को लेकर क्यूंकि सभी लोगो के टैली में GST मेन्टेन करने का तरीका थोडा थोडा अलग है तो आप बिलकुल भी कंफ्यूज न हो आप बस ध्यान रखे की बिल में Gst आ रहा है नही मेथड चाहे जो हो |
How the entry of Gst Tax is done in the tally, we will discuss the same topic today.
Students are very worried about the GST entry in the tally because the way to maintain the GST in the tally of all the people is a bit different, so you are not confused at all, just keep in mind that GST is coming in the bill, no matter what Also be)

तो चलिए देखते है टैली में कैसे GST मेन्टेन करें -
(So let's see how to maintain GST in Tally -)

इसे हम 2 तरह से टैली में मेन्टेन करेंगे पहले स्टॉक के साथ और दूसरा स्टॉक के बिना अर्थात लेजर पर GST टैक्स लगा कर 

(We will maintain it in two ways in tally, first with stock and second without stock i.e. levying gst tax on the ledger)

इसे पहले थोडा हम यह समझ ले की GST क्या है ?
(Let us first understand what is GST?)

GST अर्थात गुड्स एंड सर्विस टैक्स जो किसी माल की खरीदी विक्री पर लगाया जाने वाला टैक्स है और यह टैक्स कुछ प्रतिशत के रूप में लगाया जाता है जैसे 5%, 12%, 18% और 28% आप क्या खरीद या बेच रहे हैं इसके ऊपर निर्भर करेगा की कितना प्रतिशत टैक्स लगेगा जैसे इलेक्ट्रॉनिक आइटम पर 18% GST लगया जाता है |

(GST means Goods and Services Tax, which is a tax levied on the sale of goods and is taxed as a percentage, such as 5%, 12%, 18% and 28% over what you are buying or selling. What percentage will be taxed like 18% GST is levied on electronic items.)

चूँकि टैक्स सरकार को दिया जाता है तो GST भी सरकार को दिया जायेगा लेकिन यहाँ एक समस्या यह थी कि कौन सी सरकार राज्य सरकार या केंद्र सरकार तो इसलिए यहाँ GST के दो भाग किये गये पहला भाग CGST (Central GST ) औत दूसरा भाग SGST (State GST ) अर्थात् gst जैसे 18% प्रतिशत लगता है तो cgst 6% और Sgst 6% दोनों राज्य सरकारों को बराबर बराबर मिल जायेगा | ध्यान रहे यदि यह खरीदी बिक्री राज्य के अंदर हो तब 

(Since tax is given to the government, then GST will also be given to the government, but there was a problem here, which government is the state government or central government, so here the two parts of GST are first part CGST (Central GST) and second part SGST ( State GST) means 18% percent like gst, then cgst 6% and sgst 6% both state governments will get equal. Keep in mind if this purchase is within the sale state)

अगर राज्य के बाहर आप कोई सामान बेचते है तो उसपर IGST( Integrated Tax)  लगया जाता है और यदि राज्य केंद्र शासित हो तब UGST लगया जाता है |

(If you sell any goods outside the state, then IGST (Integrated Tax) is levied on it and if the state is centrally governed then UGST is levied.)

तो अब आप जान गये की  GST टैक्स कितने प्रकार का होता है अगर राज्य के अंदर खरीदेंगे/बेंचेगे तो cgst और sgst, राज्य के बाहर बेचने पर IGST लगया जायेगा|

(So now you know what kind of GST tax is there, if you buy / sell inside the state, then cgst and sgst, IGST will be imposed on selling outside the state.)

टैली में सबसे पहले कम्पनी बनाये कंपनी बनाते समय डेट और एड्रेस सही भरे जैसे डेट  01-04-2019  और एड्रेस इंडिया, मध्यप्रदेश और बाकि डिटेल्स देना चाहे तो दे दें जैसा चित्र में दिखया गया है |

(When making a company, first of all in the tally, when creating a company, fill the date and address correctly like date 01-04-2019 and if you want to give address India, Madhya Pradesh and other details, as shown in the picture.)

Create Company For Gst Entry 


अब कम्पनी में GST इनेबल करने के लिए F11 और F3 दबाएँ और 
Enable Goods And Services Tax (Gst)  YES करें
और Set/Alter Gst details भी  YES करें फिर अपनी कम्पनी का GSt No टाइप करें जैसा चित्र में दिखाया गया है -

(Now press F11 and F3 to enable GST in the company and
YES Enable Goods And Sureties Tax (Gst)
Also do YES Set / Alter Gst details then type your company's GSt No as shown in the picture -)
Enable Gst 



अब एकाउंट्स इन्फो में जाकर लेजर क्रिएट करें 


  • Purchase Gst - Purchase - Gst - Applicable -No- Goods 
    Purchase Ledger Create In GST
  • Sales GSt - Sales - Gst--Applicable - No - Goods 
    Sales Ledger For Gst 
  • CGST - Duties And Taxes - Gst - Central 
    Cgst In Tally Hindi Notes
  • SGST - Duties And Taxes -Gst - State
  • Ram - Sundry Creditors - Madhyparadesh 
    Sundry Creditors for Gst
  • Suresh - Sundry Debtors -Madhyapradesh 
अब इन्वेंटरी इन्फो में जाकर स्टोक ग्रुप क्रिएट करना होगा 
(Now you have to create a stock group by going to inventory information)


Inventory Info - Stock Group -Create 


  • Computer -Primary - Yes - Yes - Taxable - Gst 18%
  • keyboard - Primary - Yes - Yes - Taxable - Gst 18%




Unit Of Mesaure - Create 


  • Nos- Numbers - 0


Stock Item - Create

  • Dell Computer - Computer - Nos 
  • Hp Computer - Computer - Nos
  • Acer Keyboard - keyboard - Nos

अब हमे एकाउंटिंग वाउचर में एंट्री करनी है -
(Now we have to enter the accounting voucher -)
Purchase (F9) राम से मॉल ख़रीदा 
Gst Entry In Tally 

Sales (F8) सुरेश को माल बेचा 
sales entry 


अब कितना टैक्स का भुगतान करना है ये देखने के लिए डिस्प्ले में एकाउंट्स बुक में cgst और sgst का लेजर का बलेंसे देख लेंगे दोनों की राशी बराबर ही होगी 
(Now to see how much tax you have to pay, you will see the laser force of cgst and sgst in the accounts book in the display, both will be equal.)

अब भुगतान की एंट्री कुछ इस प्रकार होगी --
भुगतान करने के लिए कीबोर्ड पर ऑल्ट के साथ S दवाये (Alt + S) 
फिर डेट सेलेक्ट करे कब से कब तक की और फिर इस प्रकार एंट्री करे
(Now the payment entry will be something like this -

S medicines with Alt on the keyboard to pay (Alt + S)

Then select the date from when to how long and then enter in this way)
Gst Payment Entry 


अब भुगतान की रशीद डिस्प्ले में Gst challan से प्रिंट कर देंगे

 उम्मीद है आपको समझ आया होगा धन्यवाद 
(Hope you understand thanks)

Post a Comment

If you have any issue, Please comment we are reply your comment as soon as.

Previous Post Next Post